अनेक वाक्यों के एक वाक्य |

अनेक वाक्यों के एक वाक्य

  • देर से काम करने वाला – दीधसूत्रीय
  • जिसका जन्म दो बार गए हो – दविज
  • किसी भी पक्छ का समर्थन न करे वाला –  तटस्थ
  • जिसके बिना काम न चले – अपरिहार्य
  • किसी  वस्तु  का भीतरी भाग – आभ्यंतर
  • हाथी को हाकने वाला – अंकुश
  • जो छाती  के बल गमन करता है – उरग
  • वह कन्या जिसके साथ विवाह का वचन दिया गया है – वाग्दत्ता
  • ऐसी जीविका जिसका कुछ ढिकाना न हो – आकाश वृति
  • मरणासन्न अवस्था – मुमुषु
  • जो इंद्र पर विजय प्राप्त कर चुका हो –  इंद्रजीत
  • इंद्रियों को जीतने वाला – जितेंद्रिय
  • जो कानून के विरुद्ध हो – अवैद्य
  • जो दुसरो का भला करता हो – पराथी  
  • जिसका अनुभव  इन्द्रियाँ से  न हो सके – अगोचर
  • जिसका दमन  करना कडीन हो – दुदुमय
  • धरती फोड़कर जनम लेने वाला – उद भिज 
  • जो पहले कभी  सुना न गया हो – अशुतपूर्व
  • जिस पर  मुकदमा  चल रहा हो – प्रतिवादी
  • जो किसी ऐवज पर कार्य कर रहा हो – स्थानापना
  • अवैध संतान – जारज
  • पैर से होकर सर तक – अपरदमस्तक  
  • पसीने से उत्पन होने वाला – स्वेदज
  • युगो से चला आने वाला – सनातन
  • ऐसा कवि जो तत्त्काल  रचना करता हो – आशुकवि
  • वह भाई जो अन्य माता से उत्पन हुआ हो – आन्योतर
  • वह भाई जो  सवम के माता से उत्पन हुआ हो – सहोदर
  • व्याकरण  के ग्राता -वैयाकरण
  • जो नभ में चलता हो – खेचर
  • जो किये गए उपकार को मानता  हो – क्रतज्ञ
  • जिस पर हमला किया गया हो – आक्रांत
  • प्राचीन आदर्श के अनुसार चलने वाला – गतानातिक  
  • जो एक स्थान  पर टिक्कर नहीं रहता – यायावर
  • जो अचे कुल में उत्पन हो – कुलीन
  • जो बुलाया न गया हो – अनाहूत
  • वह सांयकालीन बेला जब पशु वैन से चरकर लौटते है – गोधूलि
  • बिना घर के – अनिकेत
  • हमेशा रहनेवाला –  शाश्वत
  • जीवन की इच्छा – जिजिपिषा
  • जिसका समबंद पृथ्वी  से न हो – पार्थिंव
  • जिसके पर कुछ न हो – अकिंचन
  • किसी ग्रन्थ में अन्य व्यक्ति द्रारा जोधा गया भाग – चेपक
  • जो पहले जन्मा हो – अग्रज
  • आवश्यकता से अधिक बरसात – अतिवृष्टि
  • आदेश जो निश्चित अवधि  तक लागु हो –  अधयादेश    
  •  jiske पेट में राषि बांध दी गयी हो – दामोदर
  • पीछे पीछे चलने वाला – अनगामी
  • थोड़ा नपा तुला भोजन करने वाला – मिताहारी
  • बहुत अधिक बोलने वाला – वाचाल
  • जिस स्त्री  का पति हो –  सधवा
  • जो मंद गति से कार्य करे – मंथर
  •  
  •     
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *