प्रधानमंत्री स्वनिधी योजना 2021: Online Registration, pmsvanidhi.mohua.gov.in

PM SVANidhi प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर की AtmaNirbhar Nidhi का भाग है.  प्रधानमंत्री स्वनिधी योजना 2021 एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना है. इस योजना का आरम्भ  जून 2020 में केंद्रीय सरकार द्व्रारा  शुरू की गई है.  इसका उद्देश्य COVID-19 महामारी के कारण प्रभावित सड़क विक्रेता को छोटा लोन सुविधाएं प्रदान करना है. इस योजना से पूरे देश में 50 लाख से अधिक स्ट्रीट वेंडरों को मदद मिलेगी.

प्रधानमंत्री स्वनिधी योजना क्या है ?

पीएम स्वानिधि योजना स्ट्रीट वेंडर की आत्मा निर्भार निधि  एक माइक्रो-क्रेडिट सुविधा है . जो स्ट्रीट वेंडर्स को एक वर्ष की अवधि के लिए कम ब्याज दरों के साथ 10,000 रुपये का संपार्श्विक-मुक्त ऋण प्रदान करती है. .

पीएम स्वनिधि की मुख्य विशेषताएं

  1. यह एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना है
  2. यह उन सड़क विक्रेताओ   को किफायती  लोन प्रदान करेगा जो नोवल कोरोनावायरस महामारी से प्रभावित हैं.
  3. इसे मार्च 2022 तक लागू किया जाएगा.
  4. विक्रेताओं को  10000 रुपये तक की प्रारंभिक लोन दिया जायेगा .
  5. एक विक्रेता को अपना लोन जल्दी या समय पर र्भुगतान  करने पर 7 प्रतिशत की ब्याज सब्सिडी दीजाएगी .
  6. डिजिटल भुगतान पर मासिक कैश बैक प्रोत्साहन का प्रावधान है.
    • 50-100 रुपये की सीमा में मासिक कैशबैक.
  7. विक्रेता यदि अपना लोन समय पर चुकता है तो  उसे भविष्य में  और अधिक लोन मिलने की सम्भावना बढ़ जाती है।
  8. एक विक्रेता को लोन लेने के लिए किसी भी तरह की जमानत की सुरक्षा प्रदान  करने की आवश्यकता नहीं  है.

पीएम स्वनिधि के उद्देश्य

  1. छोटे विक्रेताओं को किफायती लोन देकर उन्हें  Covid – 19 महामारी के कारण होये नुकसान से राहत प्रदान किया जा सके .
  2. कैश-बैक देकर  उच्च लोन आदि जैसे प्रावधानों द्वारा ऋणों के नियमित पुनर्भुगतान को प्रोत्साहित करना.
  3. ऋणों के डिजिटल पुनर्भुगतान का विकल्प चुनने वाले विक्रेताओं को पुरस्कृत करके डिजिटलीकरण को बढ़ावा देना.

प्रधानमंत्री स्वनिधि के तहत ऋण देने वाली संस्थाएं

  1. अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक
  2. क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  3. सहकारी बैंक
  4. गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियां
  5. सूक्ष्म वित्त संस्थान
  6. स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) बैंक

प्रधानमंत्री स्वनिधी योजना में अब तक कुल कितने आवेदन प्राप्त हुए है ?

 PM SVANidhi Yojana आत्मनिर्भर भारत पैकेज का हिस्सा है .  अब तक देश भर से (सिक्किम को छोड़कर) 31,64,367 आवेदन प्राप्त हुए हैं . और कुल आवेदनों में से 16,77,027 स्वीकृत किए जा चुके हैं . और 12,17,507 का वितरण किया जा चुका है.

कौन से विक्रेता ऋण के लिए पात्र हैं ?

सभी वेंडर जो 24 मार्च, 2020 से या उससे पहले वेंडिंग कर रहे हैं . और जिनके पास वेंडिंग सर्टिफिकेट है, वे लोन का लाभ उठा सकते हैं. स्ट्रीट वेंडर्स एक्ट 2014 के अनुसार, टाउन वेंडिंग कमेटी (जिसमें एक क्षेत्र के स्थानीय प्राधिकरण और विक्रेता शामिल हैं) सभी विक्रेताओं का सर्वेक्षण करने के बाद वेंडिंग का प्रमाण पत्र जारी करती हैं. लेकिन चूंकि कई राज्यों और शहरों ने अभी तक सर्वेक्षण नहीं किया है . इसलिए कई विक्रेता वेंडिंग का ऐसा कोई प्रमाण पत्र प्रदान करने में असमर्थ हैं. इसके बजाय, योजना के अनुसार, शहरी स्थानीय निकाय  इस मामले में, नगर पालिकाओं – ऋण लेने के इच्छुक प्रत्येक विक्रेता के लिए एक सिफारिश पत्र प्रदान करेंगे.

पहचान प्रमाण सहित ये दस्तावेज, योजना के लिए बनाए गए एक विशेष पोर्टल पर अपलोड किए जाते हैं। और बैंकों द्वारा ऋण स्वीकृत किए जाते हैं . और आदर्श रूप से, 10-15 दिनों में वितरित किए जाते हैं.

प्रधानमंत्री स्वनिधी योजना पत्रता

  • शहरी स्थानीय निकायों (यूएलबी) द्वारा जारी किए गए वेंडिंग / पहचान पत्र का प्रमाण पत्र .
  • वे विक्रेता, जिनकी पहचान रेहड़ी-पटरी विक्रेताओं के सर्वेक्षण में की गई है, लेकिन उन्हें विक्रय प्रमाणपत्र/पहचान पत्र जारी नहीं किया गया है .
  • यदि कोई विक्रेता सर्वेक्षण से छूट जाता है, तो उसे शहरी स्थानीय निकायों/टीवीसी से अनुशंसा पत्र (एलओआर) प्राप्त करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों में से एक प्रस्तुत करना होगा .
    • वेंडिंग के उद्देश्य से बैंक/एनबीएफसी/एमएफआई से लिए गए पिछले ऋण के दस्तावेज .
    • सदस्यता विवरण, यदि NASVI, NHF, SEWA आदि जैसे स्ट्रीट वेंडर्स एसोसिएशन के सदस्य .
    • कोई अन्य दस्तावेज यह साबित करने के लिए कि वह एक विक्रेता है .
    • विक्रेता एलओआर प्राप्त करने के अपने दावे की वास्तविकता का पता लगाने के लिए स्थानीय जांच करने के लिए श्वेत पत्र पर एक साधारण आवेदन के माध्यम से यूएलबी से भी अनुरोध कर सकता है.
  • केवाईसी दस्तावेज की जरूरत: आधार कार्ड / मतदाता पहचान पत्र / ड्राइविंग लाइसेंस / मनरेगा कार्ड / पैन कार्ड.

स्वनिधी योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन स्टेटस

  • अपनी सर्वेक्षण स्थिति की जांच करने के लिए, निम्न चरणों का पालन करें .
  • आधिकारिक पीएम स्वनिधि वेबसाइट https://pmsvanidhi.mohua.gov.in/ पर लॉग इन करें.
  • ‘Street Vendor Survey Search’ विकल्प पर क्लिक करें.
  • इसके तहत, आपको राज्य, यूएलबी का नाम, विक्रेता आईडी कार्ड नंबर, वेंडिंग नंबर का प्रमाण पत्र, स्ट्रीट वेंडर का नाम, पिता का नाम / पति का नाम और मोबाइल नंबर आदि  को भरना होगा.
  • एक बार भरने के बाद, आप अपनी सर्वेक्षण स्थिति की जांच करने के लिए ‘खोज’ पर क्लिक कर सकते हैं.

स्वनिधी योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे

  • चरण 1: आधिकारिक वेबसाइट http://pmsvanidhi.mohua.gov.in/ पर जाएं.
  • चरण 2: इसके बाद आपको पीएम स्वनिधि योजना ऋण आवेदन पत्र डाउनलोड करना होगा.
  • चरण 3: उस विक्रेता श्रेणी का चयन करें जिसके लिए आप पात्र हैं.
  • चरण 4: ऋण आवेदन पत्र (एलएएफ) भरें. आपका आधार नंबर आपके मोबाइल नंबर से लिंक होना जरूरी है.
  • चरण 5: आवश्यक विवरण भरने के बाद फॉर्म जमा करें.

अन्य  लेख

Leave a Comment

Your email address will not be published.